Spread the love

Biography of Sachin Tendulkar 1973 to till date In Hindi 

 हमारे देश के दिग्गज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के बारे में कौन नहीं जानता हालांकि वो बात अलग है कि सचिन क्रिकेट खेलना छोड़ चुके है लेकिन आज भी बच्चे से लेकर बूढ़े तक के जुबान पर Cricket के मामले में सबसे पहला नाम सचिन तेंदुलकर का ही आता है।

तो चलिए बगैर वक्त गवाएं आज के लेख में हम आपको The God of Cricket के नाम से मशहूर सचिन तेंदुलकर के बारे में बताने वाले है इसलिए अगर आप भी सचिन तेंदुलकर के बारे में पूरी जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो लेख के अंत तक बने रहें।

आज हम Biography of Sachin Tendulkar के बारे में बात करेंगे 

biography of Sachin Tendulkar 

सचिन तेंदुलकर का जन्म – biography of Sachin Tendulkar

24 अप्रैल साल 1973 को सचिन तेंदुलकर का जन्म हुआ था और इनका जन्म मुंबई शहर के राजापुर इलाके में एक मराठी ब्र्हामण फैमली में हुआ था। सचिन तेंदुलकर के पिता का नाम रमेश तेंदुलकर है और इन्होंने अपने बेटे का नाम सचिन देव बर्मन भी रखा है।

वर्तमान की बात करें, तो आज सचिन तेंदुलकर 49 वर्ष के लगभग हो चुके हैं। सचिन तेंदुलकर ने अंजलि तेंदुलकर से शादी भी कर ली है और इनका एक बेटा भी है जिसका नाम Arjun Tendulkar है। सचिन के हाइट के बारे में बात करें, तो इनका हाइट 1.65 है।

सचिन तेंदुलकर के बचपन से जुड़ी कुछ बातें – biography of Sachin Tendulkar

जानकारी के मुताबिक सचिन तेंदुलकर के बचपन की एक घटना काफी ज्यादा सुनने में आती है तो यदि आपको उस घटना के बारे में नहीं पता है तो कोई क्योंकि अब हम आपको अपने आगे के लेख में इसी के बारे में जानकारी देंगे तो आगे के लेख के साथ बने रहे।

तो हुआ यूं कि सचिन तेंदुलकर जब छोटे थे तब उन्हें साइकल चलाने का काफी मन करता था लेकिन उनके पास चूंकि साइकल नहीं था इसलिए वे साइकल चला नहीं पाते थे और एक दिन वे अपने पिता जी यानी रमेश तेंदुलकर से साइकल खरीदने के लिए जिद करने लगे।

लेकिन उस दौरान इनकी फाइनेंसियल कंडीशन सही नहीं थी इसलिए रमेश तेंदुलकर ने अपने बेटे को साइकल के लिए बिल्कुल मना कर दिया। जिसके पश्चात सचिन अपने पिता से इतने नाराज हो गए थे कि से गुस्से में 5 दिनों तक अपने घर से बाहर निकलना बंद कर दिया।

Biography of Sachin Tendulkar

इन 5 दिनों में सचिन अपने बालकनी से ही अपने दोस्तों को खेलता हुआ देखा करते थे लेकिन पिता से इतना नाराज थे कि वे बाहर जाना बंद कर दिए और बालकनी से अपने दोस्तों से बात चीत करना शुरू कर दिए थे। लेकिन एक दिन इसी भी एक बहुत बड़ी घटना इनके साथ हो गई।

जी हां एक दिन बालकनी के खिड़की में ही सचिन तेंदुलकर का सिर फंस गया जिसके पश्चात इनके माता पिता काफी ज्यादा डर चुके थे और तेल की मदद से जैसे तैसे करके वे सचिन का सिर खिड़की से निकाले थे। इस गंभीर घटना से सचिन के माता पिता को काफी ज्यादा झटका पहुंचा था।

इस घटना के पश्चात सचिन के माता पिता इतना ज्यादा डर चुके थे कि फिर से कुछ ऐसा न हो जाए इसके लिए वे सचिन के लिए साइकल खरीद के ला दिए थे। लेकिन आज तक इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि आखिर सचिन के पिता ने कैसे करके अपने बेटे के लिए साइकल खरीद कर लाए थे।

Biography of Sachin Tendulkar सचिन तेंदुलकर के जीवन की शुरुआत –

यदि हम सचिन तेंदुलकर के जीवन की शुरुआती दौर के बारे में चर्चा करें तो जब सचिन महज 5 वर्ष के थे तब से ही इन्हें क्रिकेट खेलना का मानो जुनून सवार था और उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए प्रोत्साहित और कोई नहीं बल्कि इनके भाई अजित तेंदुलकर ही किया करते थे।

अजित के प्रोत्साहन से ही सचिन के अंदर क्रिकेट के प्रति चाहत काफी ज्यादा बढ़ती थी और शुरुआत में क्रिकेट के प्रति पसंद इनका जुनून में बदल गया। जी हां सचिन अपना पैशन समझ कर क्रिकेट खेला करते थे। सचिन अपने पुराने घर के फिल्ड में ही क्रिकेट अपने दोस्तो के साथ जाया करते थे।

सचिन जब अपने पुराने घर के फिल्ड पर खेलने जाते थे तब वे छोटे से उम्र में ही इतने बड़े बड़े छक्के मारा करते थे कि उनके दोस्त यार भी काफी चौक जाते थे। छोटे से उम्र से ही यह क्रिकेट के चैंपियन थे। इसलिए इनके दोस्त भी इन्हें क्रिकेट के फिल्ड में आगे बढ़ने के लिए बढ़ावा देते है।

सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट के क्षेत्र में डाला अपना पहला कदम – biography of Sachin Tendulkar

सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट को अपना जुनून इस तरह बना लिया था कि केवल 16 वर्ष की उम्र में ही इन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना जगह बना कर ही दम लिया था। जी हां साल 1981 में ही सचिन तेंदुलकर इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी जगह बनाने के साथ ही साथ सबसे अधिक रन बनाने वाले दुनिया के पहले दिग्गज खिलाड़ी बन चुके है।

सचिन फिल्ड पर अपने पूरे जज्बे और आत्मविश्वास के साथ उतरते हैं। लेकिन जब साल 2012 में इन्हें राजसभा का सदस्य बनने के लिए आमंत्रित किया गया तब इन्होंने T20 में अक्टूबर 2012 में ही क्रिकेट को अनविदा करने का निर्णय ले लिया और सचिन अपने देश के लिए 16 नवंबर 2013 को अपना अंतिम मैच खेले थे।

सचिन तेंदुलकर को मिला बेसुमार पुरस्कार – biography of Sachin Tendulkar

 

साल 1994 Cricket start
साल 1997 1 . Cricketers of the Year

2 . Rajiv Gandhi Khel Ratna

साल 1998 Leading Cricketer in the World
साल 1999 Padma Shri
साल 2001 Maharashtra Bhushan Award
साल 2004 Team of the Year
साल 2007 Team of the Year
साल 2008 Padma Vibhushan
साल 2009 World Test XI
साल 2010 1 . Team of the Year.

2 . Leading Cricketer in the World.

3 . Sir Garfield Sobers Trophy.

4 . LG People’s Choice Award.

5 . Outstanding Achievement in Sport.

6 . People’s Choice Award.

7 . World Test XI.

साल 2011 1 . World Test XI

2 . Cricketer of the Year

3 . Polly Umrigar Award

साल 2012 Outstanding Achievement Award
साल 2014 Bharat Ratna

निष्कर्ष –

Biography of Sachin Tendulkar (2)

आशा करता हूं कि आपको हमारा ( Biography of Sachin Tendulkar ) सचिन तेंदुलकर के जीवन परिचय का यह पोस्ट पसंद आया होगा। आज के लेख में मैंने आपको Biography of Sachin Tendulkar में सचिन तेंदुलकर के जीवन से जुड़ी हर जानकारी प्रदान कर दिया है। अगर पोस्ट से जुड़ी सभी डिटेल्स पसंद आए, तो लेख को शेयर करना ना भूलें।

please share your opinion about the biography of Sachin Tendulkar on this blog in the comment

THANKS, AND REGARDS

ANGEL MARKETING

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *